पशुपालन सरकारी योजना में गौ सेवक प्रशिक्षण योजना (animal husbandry schemes)

1
1028

पशुपालन सरकारी योजना-गौ सेवक प्रशिक्षण योजना के बारे में जाने

(Animal Husbandry Government Scheme in Hindi)

पशु पालन सरकारी योजना-

गौसेवक प्रशिक्षण (प्रारंभिक एवं रिफ्रेशर) :

क्रम संख्या  योजना के बिंदु   योजना का संक्षिप्त विवरण
1.
उददेश्य

animal husbandry schemes में शिक्षित बेरोजगार ग्रामीण युवकों को स्वरोजगार हेतु सक्षम बनाना एवं सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक पशु चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराना।

2. हितग्राही
  • प्रांरभिक प्रशिक्षण- सभी वर्ग के 10वीं पास 18 से 35 वर्ष के आयु के शिक्षित ग्रामीण बेरोजगार ।
  • रिफ्रेशर प्रशिक्षण-प्रारंभिक प्रशिक्षण प्राप्त गौसेवक
3. चयन प्रक्रिया
  • प्रांरभिक प्रशिक्षण हेतु प्रत्येक ग्राम पंचायत से वहाँ के निवासी 10वीं पास शिक्षित ग्रामीण बेरोजगार का चयन जनपद पंचायत के अनुमोदन पर किया जाएगा।
  • रिफ्रेशर प्रशिक्षण – प्रारंभिक प्रशिक्षण प्राप्त गौसेवकों का वरिष्ठता के आधार पर चयन किया जाएगा।
4. इकाई लागत
  • प्रारंभिक प्रशिक्षण- रू 1000.00 प्रतिमाह के मान से छः माह हेतु रू 6000.00, रू 1200.00 की कीट, इस प्रकार (कुल रू 7200.00 प्रति गौसेवक)
  • रिफ्रेशर प्रशिक्षण- रू 500.00 की ेजपचमदक एवं रू 100.00 की पाठ्य सामग्री इस प्रकार (कुल रू 600.00 प्रति गौसेवक)
5. स्टायपंड प्रांरभिक प्रशिक्षण एवं रिफ्रेशर प्रशिक्षण में क्रमशः 6000.00 एवं 500.00 का ेजपचमदक शत् प्रतिशत विभाग द्वारा देय होगा। इसी प्रकार प्रारंभिक प्रशिक्षण में 1200.00 की किट (प्रति गौसेवक)एवं रिफ्रेशर प्रशिक्षण के लिए 100.00 की पाठ्य सामग्री (प्रति गौसेवक)भी शत् प्रतिशत विभाग द्वारा देय होगी।
6. संपर्क animal husbandry schemes हेतु संबंधित जिले के निकटतम पशु चिकित्सा अधिकारी/पशु औषधालय के प्रभारी /उपसंचालक पशु चिकित्सा ।

1 COMMENT

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.