संकर धान के बीज उत्पादन व पैकेजिंग कैसे करें (hybrid paddy seed production and packaging)

0

संकर धान के बीज उत्पादन तकनीकी व पैकेजिंग कैसे करें (hybrid paddy seed production and packaging)

हाइब्रिड बीज क्या है ? हाइब्रिड चावल बीज उत्पादन प्रौद्योगिकी,धान के बीज उत्पादन के लिए पृथक्करण,धान उत्पादन की उन्नत तकनीकी,प्रमाणित बीज उत्पादन कार्यक्रम,धान उत्पादन की मेडागास्कर विधि,धान के बीज नाम, संकर धान किस्मों, हाइब्रिड धान की किस्म,उच्च उपज किस्म धान,धान की प्रजातियाँ,संकर बीज उत्पादन,धान का बीज,

बीज उत्पादन हेतु निम्नलिखित शस्य क्रियाएं अच्छे एवं स्वस्थ्य बीज उत्पादन हेतु आवश्यक है जिनका प्रयोग करने से 2 से 2.5 टन/हे० संकर बीज आसानी से पैदा किया जा सकता है।

क्रियाएं प्रयोग विधि –

बीज दर –

‘ए’ लाइन या मादा जातिः 15 किग्रा०/हे० ‘बी’ अथवा ‘आर लाइन’ या नर जातिः 5 किग्रा०/हे०
नर्सरी     बिरल नर्सरी 20 ग्राम/वर्ग मीटर बीज पर्याप्त

पंक्ति अनुपात

2 बीः 8 ए नर पौधों के उत्पादन हेतु 2 आरः 10 ए संकर बीज उत्पादन हेतु

पौध संख्या/हिल

1 या 2 पौधे/हिल मादा पौधे 2 से 3 पौधे/हिल नर पौधे

दूरी

नरः नर = 30 सेमी०
नरः मादा = 20 सेमी०
मादाः मादा = 15 सेमी०
पौधः पौध = 15 सेमी० या 10 सेमी०
जी०ए०-3 (जिबेरेलिक एसिड)     60 से 90ग्रा०/हे० 500 लीटर पानी में 5-10 फीसदी बाली
प्रयोग निकल आने पर दो बार में प्रयोग करें।
पूरक सेचन क्रियाएं पराग कणों के निकलने के समय 4 से 5 बार 30 मिनट के अंतराल पर फूल अवधि पर
(सप्लीमेंट्री पॉलीनेशन)

अवांछित पौधों को निकालना विजिटेटिव अवस्था-

मार्फोलॉजिक गुणों के आधार पर पत्तियों एवं पौधों के आकार को ध्यान में रखते हुए

पुष्पावस्था-

बालियों के गुणों को ध्यान में रखते हुए।

परिपक्तवा अवस्था-

दानों के गुणों एवं प्रति बाली बीज के बनने को आधार मानकर ।
संकर बीज 2.0 से 2.5 टन/हे०
अच्छे प्रबन्धन एवं उपयुक्त प्रजातियों के प्रयोग से रू० 3000/-से रू० 5500/- प्रति हे० का फायदा संकर प्रजाति के उगाने से हो सकता है।तथा किसान भाई संकर बीज का उत्पादन कर रू० 30000 से रू० 50000 हेक्टेयर लाभ कमा सकता है तथा बीज उत्पादन हेतु कार्यक्रम में 60 से 80 आदमियों को रोजगार विशेष रूप से महिला किसानों को मिल जाता है।

बीज की शुद्धता का मूल्यांकन :

शुद्ध बीज की पहचान हेतु पारम्पारिक ‘ग्रो आउट टेस्ट’ की जगह पर मालीकुलर विधि से कम समय में एवं सस्ते दरों पर शुद्ध बीज की पहचान की जा सकती है। एक दिन में एक हजार नमूने आसानी से किया जा सकता है तथा प्रति नमूने मात्र रू० 6 खर्च करने पड़ते हैं जबकि पारम्परिक विधि से न केवल अधिक समय लगता है बल्कि खर्चीला भी है।

संकर धान के बीजोत्पादन हेतु मुख्य सावधानियां/मुख्य बिन्दु :

संकर धान की किस्मों की आनुवांशिक क्षमता का भरपूर लाभ लेने हेतु इसका बीज हर साल नया प्रयोग करना चाहिए क्योंकि संकर धान की फसल से प्राप्त बीज दूसरे वर्ष अपेक्षाकृत कम पैदावार देते है तथा दूसरे वर्ष की फसल में ऊंचाई, परिपक्वता एवं दानों में विभिन्नता आ जाती है जबकि संकर धान की पहली फसल में पर्याप्त समरूपता रहती है।
चूंकि संकर धान की उत्तम खेती हेतु मात्र 15-18 किग्रा० बीज/हे० प्रयोग किया जाता है। अतः नर्सरी प्रबन्धन नितान्त आवश्यक है।

संकर धान की खेती से लाभ :

सफल संकर धान की खेती करने पर लगभग रू० 2500-3000 का लाभ सामान्य प्रजातियों की तुलना में होता है ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.